क्या बार-बार हिंदुत्व की बात करके कांग्रेस कर्नाटक चुनाव में अपना ही नुकसान कर रही है?