सरकार ने कहा है कि उनके पास लॉकडाउन में मरे और प्रभावित हुए प्रवासी मजदूरों की जानकारी नहीं है। आपकी क्या राय है?